Wednesday, June 7Beast News Media

‘वनडे क्रिकेट की चमक फीकी होने की बातें बकवास हैं’, जानिए कप्तान के इस बयान के क्या हैं मायने?

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने ODI क्रिकेट की चमक खोने की बात को खारिज करते हुए कहा कि उनके लिए खेल के सभी प्रारूप अहम हैं। दुनियाभर में लगातार बढ़ती टी20 लीग के साथ, क्रिकेट शेड्यूल व्यस्त होता जा रहा है एवं शीर्ष खिलाड़ी (बेन स्टोक्स और ट्रेंट बोल्ट) को कुछ कड़े निणर्य लेने पर बाध्य होना पड़ रहा है जिससे हाल में पचास ओवर के क्रिकेट के भविष्य पर काफी चिंतायें व्यक्त की गयीं।

‘वनडे क्रिकेट की चमक खोने वाली बातें बकवास हैं’

रोहित शर्मा ने कहा- मैं कभी नहीं कहूंगा कि एकदिवसीय खत्म हो रहा है या T-20 खत्म हो रहा है या टेस्ट क्रिकेट खत्म होने के करीब है। उन्होंने कहा, “काश कोई और प्रारूप होता क्योंकि मेरे लिए यह खेल खेलना सबसे महत्वपूर्ण है। हर किसी के पास एक ऑप्शन होता है कि वह किस प्रारूप में खेलना चाहता है और किस प्रारूप में नहीं, लेकिन मेरे लिए तीनों प्रारूप-महत्वपूर्ण हैं। ”

क्या है कप्तान के इस बयान का मतलब?

रोहित का अगला टूर्नामेंट दुबई में एशियाकप होगा जो इस महीने के अंत में शुरू होगा। भारत अपने अभियान की शुरुआत चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ करेगा। पिछली बार जब दोनों टीमें पिछले साल टी20 वर्ल्डकप में आमने-सामने थीं तो भारत को दस विकेट से हार का सामना करना पड़ा था।

उन्होंने कहा, “हमने पिछले साल दुबई में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था, जिसका नतीजा निश्चित रूप से हमारे पक्ष में नहीं था। लेकिन टीम अब अलग अंदाज में खेल रही है और टीम ने अलग तरह से तैयारी की है, तब से लेकर अब तक बहुत कुछ हो चुका है। बदल गए हैं। गत चैंपियन भारत रिकॉर्ड 8 वीं बार इस महाद्वीपीय टूर्नामेंट को जीतने की कोशिश करेगा।

उन्होंने कहा, ‘एशिया कप में हमारा ध्यान इस बात पर होगा कि हम–एक टीम के तौर पर क्या हासिल करते हैं, जिसमें हम यह नहीं सोचेंगे कि हम किसका सामना कर रहे हैं, चाहे वह पाकिस्तान, बांग्लादेश या श्रीलंका हो। एक टीम के तौर पर हम एशियाकप से हैं। पहले कुछ चीजों पर काम करना। हमें इस प्रक्रिया को जारी रखना है। टी20 वर्ल्डकप इस साल के आखिर में होना है और हिटमैन ने कहा, “करीब 80 से 90 फीसदी टीम तैयार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *