Wednesday, June 7Beast News Media

रोहित शर्मा को जीत से ज्यादा भविष्य की फिक्र, भारतीय टीम की खातिर उठाई बड़ी जिम्मेदारी

वनडे व टी20 के बाद रोहित शर्मा ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के साथ-साथ टेस्ट क्रिकेट में भी बढ़िया शुरुआत की है। रोहित की कप्तानी में भारत ने श्रीलंका को मोहाली टेस्ट (भारत vs श्रीलंका मोहाली टेस्ट) में महज 3 दिन के अंदर हरा दिया। श्रीलंका पर एक पारी और 222 रन की जीत के साथ रोहित की कप्तानी में इंडिया का जबरदस्त प्रदर्शन जारी है।

हर कप्तान की तरह रोहित भी चाहते हैं कि भारतीय टीम लगातार जीत हासिल करे, लेकिन इसके अलावा उनका एक बड़ा लक्ष्य भी है। मोहाली में टीम की जीत के बाद शर्मा ने इस बारे में बात की और कहा कि उनके लिए मैच जीतने से बड़ी चुनौती ‘बेंच स्ट्रेंथ’ बनाना है तथा उन्होंने यह जिम्मेदारी अपने कंधों पर ली है।

विराट कोहली के कामयाब कार्यकाल के दौरान टीम इंडिया को मजबूत बेंच स्ट्रेंथ मिली और अब उनसे बागडोर संभालने वाले रोहित भी इस काम को काफी आगे ले जाना चाहते हैं। मोहाली में जीत के बाद भारत के कप्तान ने कहा, ‘अगर आप ‘बेंच स्ट्रेंथ’ बनाना चाहते हैं तो आपको अभी से सोचना शुरू करना होगा। तभी भारतीय क्रिकेट सुरक्षित हाथों में होगा। यह मेरी चुनौतियों में से एक है और मेरी जिम्मेदारियों में से एक है। मैंने अपने कंधों पर बेंच स्ट्रेंथ बनाने और बहुत सी बातों को ध्यान में रखनेकी जिम्मेदारी ली है।

बाहर बैठे खिलाड़ियों को आत्मविश्वास देना जरूरी

श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज से Team India में बदलाव आया है, जिसमें चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, इशांत शर्मा और रिद्धिमान साहा जैसे सीनियर खिलाड़ियों की जगह नए खिलाड़ियों को मौका दिया जा रहा है। ऐसे में रोहित का मानना ​​है कि सभी को कॉन्फिडेंस देना जरूरी है। उन्होंने कहा,

“मेरे लिए मैच जीतने से बड़ी चुनौती होगी। मेरे लिए महत्वपूर्ण यह है कि मैं बाहर बैठे प्लेयर्स को कैसे मौका दूं और कैसे उन्हें आत्मविश्वास दे सकूं। जब उन्हें मौका मिले तो उन्हें इस बारे में बहुत स्पष्ट होना चाहिए।” वे क्या करना और हासिल करना चाहते हैं। यह हमारे प्रदर्शन को प्रभावित करेगा, चाहे हम जीतें या हारें।”

खिलाड़ियों पर बाहरी दबाव नहीं होना चाहिए

भारतीय कप्तान ने यह भी समझाया कि उनके आते ही किसी नए प्लयेर से मैच जीतने की उम्मीद करना ठीक नहीं होगा। रोहित ने समझाया, “आप यह नहीं कह सकते कि आपको मैच जीतना है। मैच जीतने के लिए आपको बहुत कुछ करने की आवश्यकता है। खिलाड़ियों को बेंच स्ट्रेंथ तैयार करने के लिए स्पष्टता देने की जरूरत है, उनके लिए एक बढ़िया माहौल बनाने की जरूरत है ताकि खिलाड़ी मैदान पर जाएं और सुखद माहौल में अपना काम करें। ज्यादा दबाव महसूस न करें। जाहिर है जब आप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहे होते हैं तो काफी दबाव होता है। लेकिन बाहरी दबाव नहीं होना चाहिए, आंतरिक दबाव ठीक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *